राजसथानी सेकसी विडियो

जंगल में मंगल देसी

जंगल में मंगल देसी, अशोक अब उसके उसके पीछे से प्रवेश करने को तैयार था. उन्होंने अब आगे पीछे हो झटके मारने शुरू कर दिए और पायल की सिसकियों की आवाज आने लगी. मेरी प्रियंका दीदी जुनैद और असलम के बिस्तर पर होगी.. यह बात सोच सोच कर ही मेरी हालत खराब हुई जा रही थी..

उसने मुझे अपने ऊपर से हटा लिया और मैंने तुरंत अपना मास्क नीचे खिसका कर चेहरे को फिर ढक लिया। अमित ने बिस्तर से उतर कर नया कंडोम पहन लिया। Mai kal bhi buri thi, aaj bhi buri hu aur kal bhi buri hi rahugi. Mujhse kisi achchai ki ummid karna hi bekar hai. Mai apne parivar aur desh ki suraksha se jude mamle me jara bhi laparwahi bardasht nahi karti hu.

मैं सेठानी की गोद से उठा -तो सेठानी...थोड़ी सहमी...छोकरी के चुतड़ पर हाथ फेरत बोली-चल बेड पर लेट कर मज़ा ले- | जंगल में मंगल देसी जुनेद की मर्दानगी और उसकी ताकत देखकर मैं भी दंग रह गया था हालांकि मेरी सगी बहन ही उसका शिकार हो रही थी...

ब्लू फिल्म सेक्स वीडियो ओपन

  1. उसने अब मेरी शर्ट की कॉलर पकड़ी और नीचे खिसका कर कंधो से निकाल कर थोड़ी नीचे कर दी। उसने अब मेरे दोनों कंधो को पकड़ कर दबाया। कंधे दबते ही बहुत रिलैक्स फील हुआ।
  2. तब मैंने मेरी बीबी का नाक पकड़ कर उसे थोड़ा सा झकझोर कर कहा, मैं उतना भी उदार नहीं हूँ। अगर तुम मुझे बिना बताये किसीसे चुदवाती हो और तो मुझे भी दुःख होगा। पर अगर यह सब हमारी आपसी मर्जी से होता है, तो मैं तुम्हें उतना ही या शायद उससे भी कहीं ज्यादा प्यार और सम्मान दूंगा जितना पहले से देता आरहा हूँ। தமிழ் பெண்கள் குளியல் வீடியோ
  3. Idhar keerti ami ke upar gussa karne me lagi thi. Udhar vaani didi ne ami ke samne apna agla sawal dohrate huye kaha. अब हम लोग चारों सोफे पर बैठे हुए थे... हम लोग को समझा रहे थे मेरे जीजू.... देखो प्रियंका ऐसा तो करना ही पड़ेगा... हमारे पास और कोई रास्ता नहीं है.. रूपाली दीदी भी प्रियंका दीदी को समझा रही थी...
  4. जंगल में मंगल देसी...आरोही अब विशाल से कुछ नहीं पूछती, और आरोही विशाल की तरफ से करवट बदलकर लेट जाती है। जिससे आरोही की गाण्ड विशाल की साइड हो जाती है और गाण्ड विशाल के लण्ड में मुश्किल में दो इंच के फासले पर थी। रूम में इस बढ़त बिल्कुल खामोशी छाई हुई थी। मैं अपने कमरे में आकर बिस्तर पर लेट गया... नींद मेरी आंखों से कोसों दूर थी... कल रात की घटनाएं और उसके पहले की भी मेरी आंखों के सामने घूम रही थी...
  5. विशाल फिर से अपने आपको अनकंफर्टेबल महसूस करने लगा, और तभी आगे एक बेकर आ जाता है। विशाल का सारा ध्यान आरोही की चूचियों पर था। जैसे ही बाइक ब्रेकर पर चढ़ती है विशाल का बैलेंस डगमगा जाता है। Wo ab bas isi baat ka fayda utha kar mujhse jhuth bol rahi hai. Ami ne apni baat ki sachchai pata karne ke liye neha ka naam liya hai. Ab yadi ami jhuth bhi bol rahi hogi to, neha ami ki kahi gayi baat ko hi sach kahegi.

नाइट राजधानी का चार्ट

दीपा ने जब तरुण का मुडा हुआ हाथ देखा तो उसकी जान हथेली में आ गयी। दीपा ने हड़बड़ाहट में मेरी और देख कर कहा, दीपक चलो तरुण को कोई डॉक्टर के पास ले चलते हैं।

भाई हमारी किस्मत में तो मुट्ठ मारना और लौड़ा हिलाना ही है... पर आज तो इसकी रूपाली रंडी दीदी हमारे मालिक लोड़े के नीचे होगी.. रुपाली रंडी ना सही पर उसका यह गांडू भाई तो हमारे पास है... आ जाओ सब मिलकर इस बहन के लोड़े की गांड मारते हैं... मजदूरों का लीडर बोला...... पति काफी समय से दबाव डाल रहे थे कि हम मेरे भैया भाभी को साथ घूमने को लेकर जाए। पर मैं जानती थी इसका कारण क्या हैं, अगर आपने मेरी पिछली कहानी पुराना प्यार चुदाई की बहार पढ़ी हैं तो आपको भी पता ही होगा।

जंगल में मंगल देसी,मैंने मेरी बीबी की अपनी खुली तारीफ़ से शर्माते हुई हँसी देखि और मैं समझ गया की यह तो गयी। कहते हैं ना, की हँसी तो फँसी।

करीब 10 मिनट की धमाकेदार चुदाई हुई और दीदी करीब 3 बार और झड़ी.. नीचे बिस्तर पर एक बड़ा हिस्सा गीला हो चुका था…

Wo is baat ko bhi ache se janti thi ki, vaani didi ko kisi ka unse bahas karna ya kisi ki tarafdari karna jara bhi pasand nahi hai. Wo unse bahas karne wale ko bahut hi sakht saza deti thi.भारत में ट्रेन का आविष्कार कब हुआ

अब उसने मेरे दूसरे हाथ से भी शर्ट और ब्रा पूरा निकाल दी जिससे मैं टॉपलेस हो गयी। उसने मेरे होठों पर अपने होठ रख दिए और चूसने लगा। मैंने भी उसके होठों को चूसना शुरू किया। हम दोनों को नशा चढ़ने लगा। काफी समय तक वो ऐसे ही मालगाड़ी की रफ़्तार से धीरे धीरे अंदर जाता थोड़ा रुकता और बाहर आता फिर थोड़ा रूककर अंदर जाता। हर बार अंदर जाते ही उसकी एक लम्बी आह निकलती।

पायल : आह , नहीं अशोक अह्ह्हह्ह्ह्ह अम्म्मम्म अशोक क्या कर रहे हो. उम्म ओ माँ ना हम्म हम्म ऐसे मत करो अशोक अह्ह्ह्हह्ह.

मेरे पति ने बोला मुश्किल हैं मेरी वाइफ का क्या करेंगे। तीनो अगले दिन का प्लान बना रहे थे, और मैं बाहर खड़ी हो सुनती रही।,जंगल में मंगल देसी अरे, यह तो मेरा है, आ मेरे पास, मैं साफ़ करती हूँ ! पलक भाभी बोली और मेरा हाथ पकड़ कर मुझे अपने पास खींच कर मेरे बदन पर गिरे भईया के वीर्य को चाट कर साफ़ कर दिया।

News