हिंदी सेक्सी ससुर बहु

गुढीपाडव्याच्या हार्दिक शुभेच्छा

गुढीपाडव्याच्या हार्दिक शुभेच्छा, तभी मन में बात आई कि जब मैं दो लोगों से चुद ही चुकी हूँ तो दो और लोगों से चुदने में क्या हर्ज है.. और मुझे यह भी लग रहा था की इस रात और मेरे इस समर्पण के बाद सब कुछ ठीक हो जायेगा। रमण उसके उरोज़ को हल्के हल्के सहला रहा था. ऋतु के निपल सख़्त होने लगे और उसकी चूत से बहता हुआ रस रमण के लंड को गीला करने लगा.

मैं फिर उसे देखता ही रहा ...अब उसके चेहरे पर एक ताज़गी थी ..एक नयी चमक थी जो उसे और भी सेक्सी और सेडक्टिव बना रही थी ..बड़ी धीमी धीमी चाल से कमर और चूतड़ मटकाती डाइनिंग टेबल के पास आई ... विमल की हरकते कामया की चूत से थोड़ी उप्पर ही होती हैं पर इसका असर कामया की चूत पे पड़ने लगता है. कामया की चूत गीली होने लगती है और जैसे ही कामया को इसका अहसास होता है वो विमल को हटा देती है और उठ जाती है.

विमल नीचे आ कर माँ के कमरे के बाहर काफ़ी देर खड़ा रहा पर फिर हिम्मत ना पड़ने पर हाल में जा कर बैठ गया. गुढीपाडव्याच्या हार्दिक शुभेच्छा वो तड़प के ऋतु के पास जाता है उसके हाथ से वाइन की बॉटल छीन कर साइड में रख देता है और उसे अपने सीने से लगा लेता है.

वीडियो सेक्सी पिक्चर वीडियो सेक्सी पिक्चर वीडियो

  1. लिंग में बहुत तेजी से तनाव आया.. और वह देखते ही देखते आठ इंच का दिखने लगा.. मैंने तुरंत कहा- तूने तो सात इंच बताया था, ये लिंग तो आठ इंच का दिखता है?
  2. ऊवू भैया ..मैं तो डर गयी थी .. हां बाबा मुझे आप की पूजा उूजा की कोई ज़रूरत नहीं ..मुझे तो आप का प्यार चाहिए ..वो तो भरपूर मिल रहा है ..उफ्फ भैया यू अरे सो स्वीट ..और मैं भी तो उनकी पूजा करती हूँ ..शी ईज़ माइ रोल मॉडेल ... ब्लू फिल्म सेक्सी नंगी पिक्चर
  3. स्वेता फ़ौरन चिल्ला उठी यह सरासर बे-इमानी है प्रीत ..शर्त में सिर्फ़ चाटना है चूसना नहीं ...चलो हटाओ अपने होंठ ..वरना खेल ख़तम ... विमल की नज़र जब कामया पे पड़ती है तो उसे रात का मंज़र याद आता है, कैसे कामया अपनी चुदाई करवा रही थी और कैसे दोनो की नज़रें मिली हुई थी.
  4. गुढीपाडव्याच्या हार्दिक शुभेच्छा...थोड़ा रास्ता उतरने के बाद सोनी जान भुज कर लड़खड़ाती है और उसे संभालने के चक्कर में रमेश अपने से लिपटा लेता है. उसके दिमाग़ में अब तक जो हुआ वो घूमने लगता है, रवि से तो वो प्यार करने लगी थी, पर उसके पापा जो उसके साथ करना चाहते हैं वो उसे अजीब लग रहा था.
  5. मैने कहा चुप साली गश्ती रंडी की औलाद साली तू क्या समझती थी कि तू अली से इस की सील तुड़वा ले गी और मुझे पता नही चले गा तो मैंने आँखें खोल कर उनकी आँखों में देखा और झिझक से थोड़ा बाहर आते हुए मस्ती से उनकी गर्दन में अपनी बांहों का हार डालकर उन्हें अपनी ओर खींचा और उनके कानों में कहा कि जनाब सल्तनत तो आपको जीतनी है, हम तो मैदान में डटे रहकर अपनी सल्तनत का बचाव करेंगें। अब आप ये कैसे करते हैं आप ही जानिए।

सेक्सी हॉट मूवी हिंदी

मेरी आँखों से आंसुओं की धार बह निकली, मैं पहले के गमों से ही पीछा नहीं छुड़ा पाई थी और अब स्वाति की इस हरकत ने मुझे अन्दर तक हिला दिया।

अम्मी ने मुझे देखते ही कहा अच्छा हुआ तू भी आ गया और मुझे अंदर खींच लिया जब मैं अम्मी के रूम मे गया तो देखा ना भैया ..मैने कहा था ना मोम को टाइम दो ..एक ही रात में कितना बदलाव आ गया ..जस्ट वेट फॉर सम मोर टाइम माइ बिलव्ड ब्रो' ...सम मोर टाइम ...और तुम देखोगे और कितना बदलाव आता है.. शिवानी प्यार से उसकी ओर देखते हुए कहती है ....उसकी आँखों में भैया का प्यार और चाहत झलक रहे थे...

गुढीपाडव्याच्या हार्दिक शुभेच्छा,काफ़ी अजीब समय था दोनो के लिए...दिल में एक अजीब सी हलचल ... अजीब हालत..अजीब महॉल कहने को बहुत कुछ ..पर रिश्ता ऐसा कि कहना भी नही बनता.. या फिर यूँ कहे..वो दोनो ही नही जानते कि कुछ दिन पहले क्या रिश्ता बना ... और कैसा बना...क्या ये रिश्ता प्यार का है..या फिर किसी और चीज़ का..

विमल बोखलाया सा हड़बड़ाता हुआ उपर चला जाता है. जैसे ही वो सोनी के कमरे में घुसता है तो तड़प उठता है. सोनी बिस्तर पे लेटी हुई अविरल आँसू बहाए जा रही थी. उसका जिस्म कांप रहा था. पूरा चेहरा आँसुओं से भरा हुआ था.

ओह कम ऑन शिवानी ऐसी बात थोड़ी है बेटी..मैं तो तेरे साथ चाइ पियूँगी .तभी तो तेरे पास सब से लास्ट में आई .. शांति ने मौके की नज़ाकत समझते हुए यह तीर फेंक दिया...भाभी की चुदाई फुल सेक्सी

शशांक अपने आँसू पोंछता है ... मोम के चेहरे को अपने हथेली से थामता है और उसके माथे को चूमता हुआ कहता है मोम ...आप का आँचल मैला नहीं होगा ...विश्वास रखो ... वो उठ ता है और बाहर निकल जाता है.. होटेल से बाहर निकलने के बाद सोनी टिफिन टॉप जाने की ज़िद करती है और रमेश उसकी बात मान लेता है. वो तीन घोड़ों का इंतेज़ाम करता है. पर सोनी डरने का बहाना करती है कि वो रमेश के साथ बैठेगी.

शांति समझ जाती है उसे क्या करना है ..दोनों की अंडरस्टॅंडिंग इतनी अच्छी थी ..बोलने की ज़रूरत नहीं होती ..बस सिर्फ़ स्पर्श और आँखों की ज़ुबान चलती ..

तभी गेट खुलने की आवाज़ आई ... मैने न्यूज़ पेपर हटा कर सामने देखा ... लगा जैसे तूफान सामने चली आ रही है .....,गुढीपाडव्याच्या हार्दिक शुभेच्छा पायल- हाय क्या मस्त लंड है रे तेरा, दिन रात मे तेरे इस लंड के लिए बेचैन रहने लगी हू, और तू है कि अपनी दीदी की ओर ध्यान ही नही देता है

News